सपना चौधरी की जीवनी | बायोग्राफी | Biography of Sapna Chaudhary in Hindi

By | September 1, 2017

Sapna Chaudhary ki jeevani, bachpan, Family Aur Safalta ki Kahani |Biography of Sapna Chaudhary, Family and Success Story

Sapna Chaudhary Biography

दोस्तों हम बात करने जा रहे हैं हरियाणा की मशहूर डांसर और सिंगर सपना चौधरी के बारे में| सपना केवल हरियाणा में ही नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश , राजस्थान, दिल्ली और पंजाब में भी काफी मशहूर हो गयी हैं|

जन्म और परिवार | Birth and Family

जैसे के कई बार सुना गया है के सपना रोहतक की रहने वाली हैं, ऐसा बिलकुल नहीं है| सपना का घर भी रोहतक में नहीं है | सपना का जन्म 25  सितम्बर 1990  को  दिल्ली के पास के गाँव महिपालपुर में अपनी ताई जी के घर हुआ| सपना नजफगढ़ के एक माध्यम वर्गीय परिवार से थी| सपना के पिता एक प्राइवेट कंपनी में काम करते थे| सपना की 12 साल की उम्र में उनके पिता का देहांत हो गया था| पिता के बाद सपना के परिवार में उनकी माँ, बड़ी बहिन और एक छोटा भाई है|

सफलता की कहानी | Success Story

दोस्तों वैसे तो लाखों लोग सिंगिंग और डांसिंग में अपना नाम कमाने आते हैं पर सपना की बात कुछ अलग ही है| पिता के निधन के बाद मां नीलम चौधरी और भाई-बहन की जिम्मेदारी सपना ने अपने कन्धों पर उठायी| 12 साल की उम्र में सपना ने ऑर्केस्ट्रा में गाना शुरू कर दिया| उस समय सपना का मुख्य मकसद पैसे कमाना था| धीरे धीरे सपना की जादुई आवाज़ लोगों तक पहुँचने लगी| ऐसे ही सिंगिंग और डांसिंग को न सिर्फ अपना करियर बनाया बल्कि इसी के दम पर अपने पूरे परिवार को चलाया। लेकिन सपना को अपनी असली पहचान तब मिली जब उन्होंने अपना खुद का पहला गाना गाया| सपना के पहले गाने ‘ सॉलिड बॉडी” ने उन्हें चंद दिनों में ही हरियाणा की फेमस स्टार बना दिया था।

जीवन में संघर्ष | Struggle

बचपन से ही सपना ने अपने सपनो को साकार करने की ज़िद्द ठानी थी| वो सपना जो उन्होंने बचपन में देखा था| संघर्ष आज भी जारी है लेकिन कामयाबी भी कदम चूम रही है| लेकिन दोस्तों कहते है न कामयाबी इतनी आसानी से नहीं मिलती| यहाँ तक पहुँचने के लिए सपना को कई संघर्ष करने पड़े| । 17 फरवरी 2016 को गुड़गांव के चक्करपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में सपना चौधरी ने रागनी ‘बिगड़ग्या’ गाई थी। इस रागनी के कारण सपना चौधरी विवादों  में आयी |  इस रागिनी के जरिए उन्होंने दलितों पर सवाल उठाए थे और जातिसूचक शब्द बोले थे। इस पर दलित समाज बिगड़ गया और कहा गया कि गीत के माध्यम से उन्होंने पूरी जाति को ‘बावला’ कहकर अपमानित किया है। हालांकि मामले में सपना ने माफी मांग ली थी, लेकिन फेसबुक पर उनके खिलाफ अभियान छेड़ा गया था। जिस पर लगातार उनके खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियां की जा रही थीं। रोज आ रहे कमेंट्स से सपना चौधरी इतनी आहत हुई कि उन्होंने जहर खाकर जान देने की कोशिश की।

सपना का जादू | Magical Sapna Chaudhary

सपना के शोज में दीवानगी का आलम गज़ब का होता है| सपना के गांव में शरारत भरा जो डांस होता है उस पर लाखों युवा फ़िदा हैं| इस लिए सपना जब भी परफॉर्म करती हैं तो मंच से लेकर पंडाल के चारों तरफ लोग झूमते नज़र आते हैं| रागनी के जरिये सपना बेहद देसी अंदाज़ में लोगों के सामने परफॉर्म करती हैं| उनके गाने, अदाओं और डांस पर लाखों रुपये बरसते यहीं| लाखों लोग सपना के दीवाने हैं और जहाँ भी जाती हैं भीड़ लग जाती है|

सपना मिसाल है उन लोगों के लिए जो ये सोचते हैं के बेटाही परिवार की जिम्मेवारी संभालता है| सपना चौधरी किसी बेटे से कम नहीं है| कम पढ़ी लिखी होने के बावजूत सपना अपने हुनर के दमपर करोड़ों लोगों के दिलों पर राज कर रहीं हैं|

 

Save

Save

Save

Save

Save

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *