दिवाली के सीजन में रखें इन बातों का ध्यान | Safe Diwali Tips In Hindi

By | October 8, 2017

दिवाली दीपों और खुशियों का त्यौहार है| इस दिन बच्चो के साथ-साथ बड़ो में भी दिवाली का उत्साह देखने को मिलता है| इस दिन सभी लोग अपनों से मिलकर इस त्यौहार को मनाना चाहते है| दिवाली से पहले ही न जाने कितनी त्यारियो में लग जाते है| जैसे बच्चो के कपड़े की ख़रीददारी, घर की रंग-रंगाई, साफ-सफाई, घर के लिए समान की ख़रीदारी, दोस्तों और रिश्तेदारों के लिए गिफ्ट और दिवाली के दिन पकवानो को कैसे भूल सकते है| इसमें भगवन गणेश और माँ लक्ष्मी की पूजा की जाती है| लेकिन इन सभी त्यारियो के बीच किसी एक बात पे नजर नहीं जाती की दिवाली पे घर के आस-पास कितना सुरक्षित है| इस रौशनी के त्यौहार को बड़े पैमाने के साथ मनाया जाता है लेकिन कुछ लापरवाही बरतने से इसका मजा किरकरा (खराब) हो सकता है| इतना बड़ा त्यौहार होने की वजह से कुछ लोग आपने निजी फायदे के लिए आप के स्वस्थ्य के साथ खिलवाड़ कर सकते है| इस लिए आज हम आप को बताएंगे की आप सुरक्षित दिवाली कैसे मना सकते है|

दिवाली के सीजन में रखें इन बातों का ध्यान | Diwali Tips

पटाखे – Crackers: अक्सर हम देखते है की बच्चे पटाखों की तरफ ज्यादा आकर्षित होते है| पटाखों के प्रति उनकी रूचि ज्यादा होती है| इस दौरान बच्चो को एकेला न छोड़े| खास करके आतिशबाजी के दौरान अपने बच्चो के साथ रहे| और पहले ही समझा दे की पटाखे कितने खतरनाक हो सकते है| आप छोटे पटाखों को भो दूर से ही जलाए| कई लोगो को पटाखों को हाथो से फोड़ कर मजा आता है| लेकिन ऐसा करना जान लेवा भी साबित हो सकता है| पटाखों को थोड़ी दुरी से ही चलाना चाहिए|दिवाली के दौरान होने वाली बड़ी घटनाओ का कारण यह भी होता है की कई बारी हम पटाखे को चलाते है या चला के दूर फेकते है और वह चलता नहीं है या उसकी आवाज नहीं आती| तो हम उस पटाखे को दुबारा देखने आते है| तह बहुत ही गलत और खतरनाक तरीका है| यह जानलेवा भी हो सकता है| हमे ऐसा नहीं करना चाहिए|इस बात का खास ख्याल रखे की आप जिस जगह पटाखे चला रहे है उस जगह सिलेंडर, मिटी का तेल, पेट्रोल, डीजल, आदि न हो| आप रसोई के आस-पास भी पटाखे न चलाए| किसी खुलीदार हवादार जगह पे पटाखे चलाए|पटाखे चलाते समय किसी माचिस की जगह लम्बी मोमबती का उपयोग करे|

कपड़े – Clothes:  दिवाली की रात घर के आस-पास कई तरह के दिए जलाए जाते है| इस प्रकार आप को अपने पहरावे पर सावधानी रखनी चाहिए| इस दिन आप सिंथेटिक और नायलोन के कपड़े न पहने| हो सके तो आप सूती कपड़े ही पहने| को की सिंथेटिक और नायलोन के कपड़ो में आग लगने का ज्यादा डर रहता है| यह कपड़े आग को जल्दी पकड़ में लेते है| इससे हमारी जान भी जा सकती है|आप पटाखे चलाते समय ऐसे कपड़े पहने की आप का शरीर पूरी तरह से ढक जाये और पैरों में भी जुती डालें| ऐसा इस लिए खा जा रहा है को की फुलझड़ी,अनार,चरकरी या कोई होर छोटे पटाखे चलाते समय कोई चिंगारी आदि पड़ जाये तो आप इससे बच सके या आप का बचाव हो सके|

बिजली की तारें – Electrical Wiring :  दिवाली के दिन सभी लोग अपने घर को अच्छे से रौशनी से सजाते है| कुछ लोग रंग बिरगी लाइटों, रंग बिरंगी झालरो, एलईडी लाइटों का इस्तेमाल करके अपने घर को सजाते है| यह देखने में जितनी खूबसूरत लगती है उतनी ही इसकी सुरक्षा भी करनी चाहिए| इनको लगाने के तुरंत बाद आप कनेक्शन को अच्छे से चैक कर ले| ऐसा इसलिए कहा जा रहा है या कहा जाता है को की घर की सुरक्षा के साथ साथ आप भी और औरो को भी सुरक्षा मिल सके|

पानी – Water: आप दिवाली के दिन पानी का पूरा इंतजाम कर के रखे| खास तौरपर जब आप पटाखे चलाते हो तो उस समय भी हो सके तो पानी को अपने पास ही रखे| ऐसा इस लिए कहा जाता है की अगर कोई दुर्घटना घट भी जाये तो उस पर काबू पाया जा सके|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *