डेंगू बुखार के घरेलू उपाय | Home Remedies for Dengue in Hindi

By | September 26, 2017

Dengue Bukhar ke Gharelu Upaye | Home Remedies for Dengue in Hindi

डेंगू बुखार के घरेलू उपाय | Dengue

डेंगू एक ऐसी बीमारी है जो कि वायरस से होती है और यह वायरस मच्छरों के द्वारा काटने से होता है| यह बुखार एडीस नामक मच्छर कि काटने से होता है| यह मच्छर ज्यादातर साफ़ पानी में होते है और दिन में काटते है| यह ज्यादा उचाई पे नहीं उड़ सकते| बड़ो कि मुकाबले यह बच्चों में तेजी से फैलता है| इनके काटने कि बाद व्यक्ति को बुखार आने लगता है| पूरी दुनिया में हर साल करोड़ों लोग इसका शिकार होते है और सही इलाज ना मिल पाने पर अपने जीवन से हाथ धो बैठते है| डेंगू कि बचाव कि लिए कुछ घरेलू उपाय है जिनकी मदद से बचना संभव है|

गिलोय | Giloy for Dengue Fever:

आप गिलोय बेल की डंडी को लेकर उसके छोटे छोटे टुकड़े कर ले| फिर दो गिलास पानी में इन गिलोय के छोटे छोटे टुकड़ो को उबालें| उबलने के बाद जब पानी आधा रह जाए तो गैस बंद कर दे और इसे ठंडा होने के लिए रख दे| जब पानी ठंडा हो जाए तो यह पानी रोगी को पिलाएं| मात्र ४५ मिनट के बाद बॉडी में ब्लड प्लेटलेट्स बढ़ने शुरू हो जाएगे| यह डेंगू बुखार के लिए सस्ता और सबसे अच्छा इलाज है|गिलोय का पानी दिन में तीन बार पीने से भी डेंगू के उपचार में फ़ायदा मिलता है|सुबह शाम घी में या शहद में गिलोय का रस मिला कर पीने से खून की कमी दूर होती है|

मेथी के पत्ते | Fenugreek Leaves:

मेथी के पत्तों से भी डेंगू बुखार को कम किया जा सकता है| यह बहुत ही सरल और सस्ता उपाय है| आप मेथी की पत्तिया लेकर थोड़े से पानी में डुबोएं| कुछ समय बाद आप पत्तियो को निकाल कर वह पानी पी ले| इस पानी का सेवन करने से पीड़ित का दर्द दूर होगा| बुखार भी कम होने लगेगा और नींद में भी मदद मिलेगी| अप्प इन मेथी के पत्यो को उबाल कर चाय के रूप में भी इस का इस्तेमाल कर सकते है| आप मेथी के पाउडर को भी पानी में मिला कर पी सकते है| मेथी से शरीर के सारे विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते है|

पपीते के पत्ते | Papaya Leaves for Dengue Remedies:

पपीते की पत्तियों को डेंगू बुखार के लिए सबसे असरदायक दवा माना जाता है| इसमें मजूर एंजाइम होते है जो शरीर की पाचन किर्या को ठीक करते है| साथ ही शरीर में प्रोटीन को घोलने का काम करते है| आमतोर पर पपीते का पेड़ आसानी से मिल जाता है| आप इसकी पत्तियों का ताजा रस निकाल के मरीज को दे| यह रस मरीज को दिन में तीन बार दे| ऐसा करने से एक दिन के बाद ही प्लेटलेट की संख्या बढ़ने लगेगी| पपीते की पतियों को कूट कर इसका रस निकाल ले| इसका रस पीने से आपके सिर का दर्द, कमजोरी महसूस होना,उलटी आना, थकान महसूस होना, बुखार आदि के लक्षण कम होने लगेंगे| आप इसकी पत्तियों को कूटकर खा भी सकते है|

तुलसी | Basil:

तुलसी को भी डेंगू बुखार में लेना अच्छा माना जाता है| आप तुलसी के पत्तों को गर्म पानी में उबालें| जब पानी थोड़ा हल्का गर्म हो तो यह पानी को छान के रोगी को पिलाएं| तुलसी की चाय भी डेंगू रोगी को आराम पुहचाती है| यह चाय रोगी को दिन में तीन बार दे| इसे पीने से रोगी को राहत मिलेगी| आप रोगी को तुलसी और नीम की पत्तियों का काढ़ा भी दे सकते है| यह काढ़ा पीना भी रोगी के लिए लाभकारी साबित होगा| आपको तुलसी के पत्तो में दो ग्राम काली मिर्च को पानी में उबाल कर पीने से भी आराम मिलेगा|अगर आप तुलसी में थोड़ा सा शहद मिला कर पिए| इससे भी आपको लाभ होगा|

गोल्डनसील | Goldenseal:

गोल्डनसील अमेरिका में पाई जाने वाली एक हर्ब है| इसका इस्तेमाल दवाई बनाने के लिए किया जाता है| इस हर्ब में जल्दी से डेंगू वायरस को ख़त्म करने की क्षमता होती है| इसका प्रयोग भी पपीते की पत्तियों जैसा होता है| इसे आप कूट कर खा सकते है| आप इसका जूस भी पी सकते है और ऐसे भी इसको खा सकते है|

बकरी का दूध | Goat’s milk:

डेंगू बुखार के लिए बकरी का दूध बहुत प्रभावशाली दवा है| डेंगू बुखार से पीड़ित मरीज को आप बकरी का दूध थोड़ा थोड़ा कर के पिलाए| इसे पीने से जोड़ो का दर्द ठीक होगा और सेल्स भी बढ़ने लगेंगे|

संतरे का जूस | Orange Juice:

संतरे में विटामिन सी भरपूर मात्रा मे पाया जाता है| यह शरीर की पाचन शक्ति और इम्यूनिटी को बढ़ाता है| इसका सेवन करने से आप जल्दी तंदरुस्त होंगे| अगर आप संतरे के रस में आवला और मौसमी बराबर मात्रा में डाल कर इसका रस निकल के पिए तो आपके शरीर का सुरक्षा चक्र मजबूत होगा|

हल्दी | Turmeric:

आप खाने  में हल्दी का अधिक प्रयोग करे| आप इसका उपयोग सुबह शाम एक गिलास पानी या हल्के गर्म दूध के साथ भी कर सकते है| यह सेल्स को बढ़ाने में और घाव को ठीक करने में मदद करती है|

Save

Save

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *