Category Archives: General

गुरुनानक जयंती कब क्यों और कैसे मनाई जाती है | Why and How We Celebrate Guru Nanak Jayanti Gurpurab

गुरु नानक देव जी के जन्म दिवस को ही गुरु नानक जयंती के रूप में मनाया जाता है| गुरु नानक देव सिखों के प्रथम गुरु थे| इनका जन्म राइ भोय की तलवंडी (ननकाना साहिब) में हुआ था जो आज-कल पाकिस्तान में है| इनके जन्म-दिवस को प्रकाश उत्स्व भी कहते है| यह कार्तिक पूर्णिमा के शुभ… Read More »

धनतेरस पर यमराज और धन्वंतरि की कथा | Yamraj and Dhanvantri Katha in Hindi

हिन्दू धर्म ग्रंथो के अनुसार कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रोदिशी तिथि के दिन भगवान धन्वंतरि का जन्म हुआ| इस लिए इस तिथि को धनतेरस के नाम से जाना जाता है| यह त्यौहार दिवाली से दो दिन पहले मनाया जाता है| दिवाली से पहले धनतेरस पूजा को बहुत महत्व होता है| इस दिन भगवान धन्वंतरि के… Read More »

धनतेरस की कथा | Dhanteras Katha in Hindi

Dhanteras Katha कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रोयदशी के दिन धनतेरस (Dhanteras) का पर्व बड़ी श्रद्धा और विश्वास के साथ मनाया जाता है| धन्वंतरि के इलावा इस दिन लक्ष्मी माँ और धन के देवता कुबेर जी की पूजा भी की जाती है| इस दिन को मनाने के पीछे धन्वंतरि के जन्म लेने के इलावा और भी… Read More »

धनतेरस क्यों मनाते हैं? जानिए धनतेरस का महत्व | Why We Celebrate Dhanteras in Hindi

धनतेरस क्यों मनाते हैं? Why We Celebrate Dhanteras? कार्तिक माह कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को धन्वंतरि देवता का जन्म हुआ था| इनका जन्म समुन्द्र मंथन से हुआ था| जब इनका जन्म हुआ तो यह अमृत कलश लेकर आए थे| जिसके लिए इतना भव्य समुद्र मंथन किया गया| इसी समुद्र मंथन से माँ लक्ष्मी जी का… Read More »

अहोई अष्टमी व्रत कथा | Ahoi Ashtami Vrat Katha in Hindi

अहोई शब्द का अर्थ होता है होनी को अनहोनी बनाना| यह व्रत करवाचौथ के चार दिन बाद मनाया जाता है| यह व्रत केवल संतान वाली महिलाएं ही रख सकती है| यह व्रत बच्चो के सुख के लिए रखा जाता है| इस व्रत को करने से परिवारिक सुख की भी प्राप्ति होती है| इस व्रत में… Read More »

अहोई अष्टमी व्रत की विधि और महत्व | Ahoi Ashtami Vrat vidhi And its Significance in Hindi

अहोई अष्टमी व्रत का महत्व | Ahoi Ashtami Vrat Significance: अहोई अष्टमी व्रत का बहुत महत्व है क्यों कि हर एक उपवास के पीछे एक पुराणिक कथा होती है| जो हमे सीख देती है और हमे धर्म का मार्ग दिखाती है| पश्चाताप का भाव देती है और उनसे बाहर निकलने का मार्ग भी दिखाती है|… Read More »

दिवाली के त्यौहार का ऐतिहासिक महत्व | Historical and Spiritual Significance of Diwali in Hindi

दिवाली रोशनी और प्रकाश का त्यौहार है| आप में से हर कोई अपने आप में एक प्रकाश है| यह त्यौहार पूरे भारत में मनाया जाने वाला त्यौहार है| इस दिन लोग एक दूसरे को शुभ कामनाएं देते है और मिठाइएं बांटते है| दिवाली के समय हम अतीत के सभी दुःख भूल जाते है| पटाखों की… Read More »

दिवाली के सीजन में रखें इन बातों का ध्यान | Safe Diwali Tips In Hindi

दिवाली दीपों और खुशियों का त्यौहार है| इस दिन बच्चो के साथ-साथ बड़ो में भी दिवाली का उत्साह देखने को मिलता है| इस दिन सभी लोग अपनों से मिलकर इस त्यौहार को मनाना चाहते है| दिवाली से पहले ही न जाने कितनी त्यारियो में लग जाते है| जैसे बच्चो के कपड़े की ख़रीददारी, घर की… Read More »

करवा चौथ में कर्वे और सरगी का महत्व | Significance of Sargi in Karva Chauth in Hindi

करवा चौथ स्त्रियो का मुख्य त्यौहार है| यह व्रत सुहागने अपने पति की लम्बी आयु के लिए रखते है| करवा चौथ का व्रत कार्तिक महीने की कृष्णा चतुर्थी को मनाया जाता है| यह शरद पूर्णिमा के बाद आने वाली चौथ होती है| इसी को चतुर्थी कहा जाता है| यह व्रत हर महिला अपने अपने रीती-रिवाजो… Read More »

करवा चौथ का महत्व, व्रत रखने की विधि | Karva Chauth Importance and Vidhi in Hindi

भारत में वैसे तो हर साल बहुत से त्यौहार मनाये जाते है जिनका अपना अलग-अलग महत्व होता है| वैसे ही शादीशुदा महिलाओं के लिए करवा चोथ का बहुत ही महत्व है| करवा चोथ का पर्व कार्तिक महीने की कृष्णा पक्ष चतुर्थी पर पड़ता है| करवा चोथ के दिन शादी-शुदा महिलाएं अपने पति की लम्बी आयु… Read More »